28 Jul, 2021

NEET क्या है? NEET परीक्षा की तैयारी कैसे करें

[ad_1]

NEET परीक्षा की तैयारी कैसे करें (How to Prepare for NEET Hindi)

NEET क्या है? (What is NEET Hindi)

राष्ट्रीय पात्रता प्रवेश परीक्षा जिसे NEET के नाम से जाना जाता है। यह भारत में सभी MCI / DCI अनुमोदित कॉलेजों में MBBS / BDS प्रवेश के लिए छात्रों का चयन करने के लिए आयोजित की जाने वाली एक राष्ट्रीय स्तर की मेडिकल प्रवेश परीक्षा है। डॉक्टर के रूप में अपना करियर चमकाने के लिए हर साल 15 लाख से अधिक उम्मीदवार NEET में आवेदन करते हैं।

यह परीक्षा NTA द्वारा आयोजित की जाती है और इसे वर्ष की सबसे बड़ी प्रवेश परीक्षा कहा जाता है। कॉलेजों में न्यूनतम सीटें आरक्षित होती हैं। इसलिए ये हाई कट-ऑफ और अत्यंत उच्च प्रतियोगिता वाली हैं। NEET के पेपर को क्रैक करने के लिए, छात्र को स्मार्ट स्टडी करने की आवश्यकता होती है। उन्हें समय के भीतर अपने सेलेब्स को पूरा करने के लिए उचित रणनीति और ट्रिक्स को जानना होगा।

इस लेख में, हम आपको कुछ आवश्यक जानकारी और अध्ययन के सर्वोत्तम पैटर्न के बारे में बताएँगे ताकि आप अपने पहले प्रयास में NEET 2020 को क्रैक कर सकें।

परीक्षा 2020-21 का पैटर्न

किसी भी परीक्षा की तैयारी करने से पहले उसके पैटर्न के बारे में जानना आवश्यक है। यहाँ परीक्षा का एक पैटर्न दिया गया है:

1. परीक्षा ऑफलाइन होती है।
2. इसमें विभिन्न प्रकार के वस्तुनिष्ठ प्रश्न अंग्रेजी, हिंदी, मराठी, गुजराती, बंगाली, उड़िया, असमिया, तेलुगु, तमिल, उर्दू और कन्नड़ भाषाओं में होंगे।
3. पेपर 720 अंकों का होगा जो 180 प्रश्नों के बीच विभाजित होगा। जिसे तीन विषयों को समान रूप से 180 प्रश्नों के बीच विभाजित किया जाएगा। भौतिकी से 45 प्रश्न, रसायन विज्ञान से 45 प्रश्न, बॉटनी से 45 प्रश्न और जूलॉजी से 45 प्रश्न होंगे।
4. प्रत्येक सही उत्तर आपको 4 अंक देगा जबकि प्रत्येक गलत उत्तर आपके 1 अंक को काट देगा।
3 घंटे के भीतर, प्रत्येक छात्र को पेपर पूरा करना होगा।

back to menu ↑

NEET 2020-21 का सिलेबस

NEET का सिलेबस पिछले साल की तरह ही होगा। याद रखने के लिए कुछ महत्वपूर्ण दिशा-निर्देश हैं जो परीक्षा की तैयारी करते समय छात्रों की मदद करेंगे। जिसे आप https://ntaneet.nic.in/ पर देख सकते हैं।

back to menu ↑

भौतिक विज्ञान

back to menu ↑

कक्षा XI

अध्याय 1 – भौतिक जगत (Physical World)

अध्याय 2 – मात्रक और मापन (Units and Measurement)

अध्याय 3 – सरल रेखा में गति (Motion in a Straight Line)

अध्याय 4 – समतल में गति (Motion in a Plane)

अध्याय 5 – गति के नियम (Law of Motion)

अध्याय 6 – कार्य, ऊर्जा और शक्ति (Work, Energy, and Power)

अध्याय 7 – कणों के निकाय तथा घूर्णी गति (Systems of Particles and Rotational Motion)

अध्याय 8 – गुरुत्वाकर्षण (Gravitation)

back to menu ↑

कक्षा XII

अध्याय 9 – ठोस के यांत्रिक गुण (Mechanical Properties of Solids)

अध्याय 10 – तरलों के यांत्रिक गुण (Mechanical Properties of Fluids)

अध्याय 11 – द्रव्य के तापीय गुण (Thermal Properties of Matter)

अध्याय 12 – ऊष्मागतिकी (Thermodynamics)

अध्याय 13 – अणुगति सिद्धांत (Kinetic Theory)

अध्याय 14 – दोलन (Oscillations)

अध्याय 15 – तरंगें (Waves)

back to menu ↑

रसायन विज्ञान

back to menu ↑

कक्षा XI

अध्याय 1: रसायन विज्ञान की कुछ मूल अवधारणाएँ
अध्याय 2: परमाणु की संरचना
अध्याय 3: तत्वों का वर्गीकरण एवं गुणधर्मों में आवर्तिता
अध्याय 4: रासायनिक आबंधन तथा आण्विक संरचना
अध्याय 5: द्रव्य के अवस्थाएँ तथा ठोस अवस्था
द्रव्य के अवस्थाएँ
ठोस अवस्था
अध्याय 6: उष्मागतिकी
अध्याय 7: साम्यावस्था
अध्याय 8: अपचयोपचय अभिक्रियाएँ
अध्याय 9: हाइड्रोजन
अध्याय 10: s – बलॉक तत्व
अध्याय 11: p – बलॉक तत्व I & II
अध्याय 12: कार्बनिक रसायन: कुछ आधारभूत सिद्धांत तथा तकनीकें
अध्याय 13: हाइड्रोकार्बन
अध्याय 14: पर्यावरणीय रसायन

back to menu ↑

कक्षा XII

अध्याय 1: ठोस अवस्था
अध्याय 2: विलयन
अध्याय 3: वैधुतरसायन
अध्याय 4: रासायनिक बलगतिकी
अध्याय 5: पृष्ठ रसायन
अध्याय 6: तत्वों के निष्कर्षण के सिद्धांत एवं प्रक्रम
अध्याय 7: p- ब्लॉक के तत्व
अध्याय 8: d- एवं f- ब्लॉक के तत्व
अध्याय 9: उपसहसंयोजन यौगिक
अध्याय 10: हैलोएल्केन तथा हैलोएरीन
अध्याय 11: एल्कोहल, फिनॉल एवं ईथर
अध्याय 12: एल्डिहाइड, कीटोन एवं कार्बोक्सिलिक अम्ल
अध्याय 13: एमीन
अध्याय 14: जैव-अणु
अध्याय 15: बहुलक
अध्याय 16: दैनिक जीवन में रसायन

back to menu ↑

back to menu ↑

जीवविज्ञान

back to menu ↑

कक्षा XI

इकाई एक – जीव जगत में विविधता

अध्याय 1 जीव जगत (The Living World)

अध्याय 2 जीव जगत का वर्गीकरण (Biological Classification)

अध्याय 3 वनस्पति जगत (Plant Kingdom)

अध्याय 4 प्राणि जगत (Animal Kingdom)

इकाई दो – पादप एवं प्राणियों में संरचनात्मक संगठन

अध्याय 5 पुष्पी पादपों की आकारिकी (Morphology of Flowering Plants)

अध्याय 6 पुष्पी पादपों का शारीर (Anatomy of Flowering Plants)

अध्याय 7 प्राणियों में संरचनात्मक संगठन (Structural Organisation in Animals)

इकाई तीन – कोशिका संरचना एवं कार्य

अध्याय 8 कोशिका जीवन की इकाई (Cell The Unit of Life)

अध्याय 9 जैव अणु (Biomolecules)

अध्याय 10 कोशिका चक्र और कोशिका विभाजन (Cell Cycle and Cell Division)

इकाई चार – पादप कार्यकीय

अध्याय 11 पौधों में परिवहन (Transport in Plants)

अध्याय 12 खनिज पोषण (Mineral Nutrition)

अध्याय 13 उच्च पादपों में प्रकाश संश्लेषण (Photosynthesis in Higher Plants)

अध्याय 14 पादप में श्वसन (Respiration in Plants)

अध्याय 15 पादप वृद्धि एवं परिवर्धन (Plant Growth and Development)

इकाई पाँच – मानव शरीर विज्ञान

अध्याय 16 पाचन एवं अवशोषण (Digestion and Absorption)

अध्याय 17 श्वसन और गैसों का विनिमय ( Breathing and Exchange of Gases)

अध्याय 18 शरीर द्रव तथा परिसंचरण (Body Fluids and Circulation)

अध्याय 19 उत्सर्जी उत्पाद एवं उनका निष्कासन (Excretory Products and their Elimination)

अध्याय 20 गमन एवं संचलन (Locomotion and Movement)

अध्याय 21 तंत्रिकीय नियंत्रण एवं समन्वय (Neural Control and Coordination)

अध्याय 22 रासायनिक समन्वय तथा एकीकरण (Chemical Coordination and Integration)


back to menu ↑

कक्षा 12


इकाई एक – लैंगिक जनन (Sexual Reproduction)

अध्याय 1: जीवों में जनन (Reproduction in Organisms)

अध्याय 2: पुष्पी पादपों में लैंगिक जनन (Sexual Reproduction in Flowering Plants)

अध्याय 3: मानव जनन (Human Reproduction)

अध्याय 4: जनन स्वास्थ्य (Reproductive Health)

इकाई दो – अनुवांशिकता एवं जैव विकास (Genetics and Evolution)

अध्याय 5: वंशागति तथा विविधता के सिद्धांत (Principle of Inheritance and Variation)

अध्याय 6: वंशागति के आणविक आधार (Molecular Basis of Inheritance)

अध्याय 7: विकास (Evolution)

इकाई तीन – जीव विज्ञान एवं मानव कल्याण (Biology and Human Welfare)

अध्याय 8: मानव स्वास्थ्य तथा रोग (Human Health and Diseases)

अध्याय 9: खाद्य उत्पादन में वृद्धि की कार्यनीति (Strategies for Enhancement in Food Production)

अध्याय 10: मानव कल्याण में सूक्ष्म जीव (Microbes in Human Welfare)

इकाई चार – जैव प्रौद्योगिकी एवं उसके उपयोग (Biotechnology and its Applications)

अध्याय 11: जैव प्रौद्योगिकी – सिद्धांत व प्रक्रम (Biotechnology Principles and Processes)

अध्याय 12: जैव प्रौद्योगिकी एवं उसके उपयोग (Biotechnology and its Applications)

इकाई पांच – पारिस्थितिकी एवं पर्यावरण (Ecology and Environment)

अध्याय 13: जीव और समष्टियाँ (Organisms and Populations)

अध्याय 14: पारितंत्र (Ecosystem)

अध्याय 15: जीव विविधतता एवं संरक्षण (Biodiversity and Conservation)

अध्याय 16: पर्यावरण के मुद्दे (Environmental Issues)

 

NEET में 11 वीं और 12 वीं कक्षा के फिजिक्स, केमिस्ट्री और बायोलॉजी के विभिन्न प्रश्न शामिल होंगे। एनटीए ने अपनी वेबसाइट पर कई नमूना पत्र जारी किए हैं जो छात्रों को पेपर के पैटर्न के बारे में एक विचार दे सकते हैं।

back to menu ↑

NEET की तैयारी करते समय आवश्यक टिप्स

जैसा कि हम सभी जानते हैं कि NEET की तैयारी करने वाले छात्रों के पास एक्जाम की जानकारी खोजने के लिए बहुत कम समय होता है, इसलिए हमने कुछ प्रभावी सुझावों की एक सूची बना रखी है। आइए एक नज़र डालते हैं कुछ बेहतरीन और उपयोगी टिप्स पर:
NEET की तैयारी का पहला नियम है कि आप अपने स्कूल की कक्षाओं में अपना ध्यान बनाए रखें। पूरी तरह से कोचिंग कक्षाओं पर निर्भर नहीं रहे। स्कूल में अपने संदेहों को दूर करने का प्रयास करें। कोचिंग में आपको विषय से जुडी अधिक अतिरिक्त जानकारियाँ मिलेंगी।

पाठ्यक्रम को समय पर पुरा करने के लिए एक सही समय सारिणी तथा योजना बनाए। समय सारिणी का पालन करने के लिए कठोर नियम बनाएं।

हर विद्यार्थी की दैनिक गतिविधि एक-दूसरे से भिन्न होती है इसलिए पढ़ाई के दूसरे की समय सारणी तथा योजना को कॉपी न करें। अपनी खुद की दिनचर्या गतिविधि सूची बनाएं ताकि आप अपनी रुचि के साथ इसका पालन कर सकें।

कई रणनीतियों और ट्रिक्स को अपनाकर स्मार्ट अध्ययन करें। कड़ी मेहनत और स्मार्ट अध्ययन के संयोजन के साथ NEET के लिए खुद को तैयार करें

खुद को पूरी तरह से किताबी-कीडा न बनाए। अपने लिए कुछ फुरसत के पल बनाएं। टीवी देखना, नेट सर्फिंग, दोस्तों से मिलना, खेलना और यहां तक कि अपने पसंदीदा शौक यानी होबी को समय दे। इससे आपका मन पढ़ाई के लिए तरोताजा और सक्रिय रहेगा।

अध्ययन का एक प्रारूप बनाएं। पाठ्यक्रम के कुल अध्यायों को कई दिनों में विभाजित करें और अपने निर्धारित लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए उन्हें पूरा करने का प्रयास करें।

विभिन्न MCQ और मॉक टेस्ट को हल करके परीक्षा के लिए खुद को तैयार करें। हर अध्याय के पूरा होने के बाद, उस विषय से संबंधित कई MCQ को हल करें।

परीक्षा से पहले पाठ्यक्रम को पूरा करने की कोशिश करें ताकि आपको रिविजन करने के लिए पर्याप्त समय मिल सके।

अपनी कमजोरियों से ना घबराएँ करें। इसका सामना करने की कोशिश करें और सबसे अच्छा समाधान प्राप्त करने के लिए अपने शिक्षक तथा मार्गदर्शक के साथ चर्चा करें उनके सुझाव का पालन करे।

सबसे महत्वपुर्ण सुझाव बार-बार रिवीजन करे आपको NCERT की किताबों का कम से कम 10 बार रिवीजन करना है।

back to menu ↑

NEET की तैयारी के लिए अध्ययन करने के लिए महत्वपूर्ण पुस्तकें

एक्जाम को पास करने के लिए सबसे अच्छी पुस्तकें द्वारा प्रकाशित पुस्तकें है फिर आप केवल इन्हीं किताबों पर निर्भर नहीं रह सकते। आपको कुछ अन्य किताबों की भी ज़रूरत होगी। NEET एक्जाम के लिए हिन्दी माध्यम के लिए पुस्तकें कम ही उपलब्ध है। नीचे कुछ किताबों की लिस्ट दी हुई है जिनका उपयोग NEET की तैयारी के लिए कर सकते है।

back to menu ↑



[ad_2]

Source link